स्वास्थ्य विभाग के चिरायु वाहन में छह सालों से एक ही ट्रेवल्स एजेंसी का कब्जा, आरोप-अप्रैल में निविदा खुलना था पर उसी एजेंसी को लाभ देने अब तक नहीं खुला निविदा

0
238

जांजगीर-चांपा। अपने विभिन्न कारनामों को लेकर जिले में स्वास्थ्य विभाग हमेशा सुर्खि्रयों में रहा है। अब वाहन किराया निविदा को लेकर स्वास्थ्य विभाग इन दिनों काफी चर्चा में है। शिकायत के मुताबिक स्वास्थ्य विभाग में एक ही ट्रेवल्स एजेंसी का कब्जा है, जिसे बगैर निविदा जारी किए वाहन किराए में चलवाने का लाभ सालों से दिया जाता रहा है। इस बार 21 वाहनों के लिए बीते मार्च में निविदा बुलाई गई थी लेकिन कथित एजेंसी को ही फायदा पहुंचाने के लिए अब तक निविदा नहीं खोली गई है।

आपकों बता दें कि इन दिनों सरकारी कार्यालयों में वाहन किराए पर चलाने का कारोबार जोरों पर है। बताया जाता है कि चंद लोग स्वास्थ्य विभाग के अफसरों सेे मिलीभगत कर अपना वाहन किराए में लगाने सफल हो जा रहे हैं। आरोप यह भी है कि एक ही ट्रेवल्स एजेंसी का यहां स्वास्थ्य विभाग में कई सालों से कब्जा है। यही वजह है कि पहले नियमों को ताक पर रखकर वाहन किराए में चलवाने के लिए निविदा भी नहीं बुलाई जाती थी, जबकि कथित ट्रेवल्स एजेंसी को सीधे यह काम रेवड़ी की तरह दे दिया जा रहा है। हालांकि इसके लिए वर्ष 2018 में निविदा तो बुलाई गई लेकिन कथित एजेंसी को लाभ देने के लिए निविदा को बाद में निरस्त कर दिया गया। आरोप यह भी है कि चिरायु वाहन यहां वर्ष 2012 से चलाया जा रहा है और तब से एक ही एजेंसी को काम दिया जा रहा है। उल्लेखनीय है कि स्वास्थ्य विभाग द्वारा चिरायु वाहन के लिए हर साल प्रदेश के सभी जिलों में निविदा बुलाई जाती है लेकिन इस जिले में नियमों की धज्जियां उड़ाई जा रही है। अभी बीते 12 मार्च को 21 वाहन किराए में चलवाने के लिए कार्यालय मुख्य चिकित्सा चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन जांजगीर-चांपा द्वारा निविदा निकाला गया। निविदा जमा करने की अंतिम तिथि 5 अप्रैल 2019 को दोपहर 3 बजे तक था। निविदा खोले जाने की तिथि उसी शाम 4 बजे तक था, लेकिन अब तक निविदा को नहीं खोला गया है। बताया जा रहा है चार एजेंसी ने निविदा जमा किया है लेकिन कथित एजेंसी को ही सारा काम दिए जाने को लेकर निविदा नहीं निकाले जाने की बात सामने आ रही है। इस पूरे मामले की शिकायत महामाया टूर एंड ट्रेवल एजेंसी के संचालक ने कलेक्टर से करते हुए पूरे मामले की जांच व कार्रवाई की मांग की है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here