सरपंच के नदारद रहने से उसके पति ने कार्रवाई व उपस्थिति पंजी में किया हस्ताक्षर….

0
30

जांजगीर-चांपा। जैजैपुर क्षेत्र के ग्राम पंचायत डोटमा में ग्रामसभा की कार्रवाई महज दो पंचों में पूरी हो गई, जबकि इस बैठक में सरपंच भी मौजूद नहीं था। दिलचस्प बात यह है कि उपस्थिति और कार्रवाई पंजी में सरपंच के बजाय उसके पति ने हस्ताक्षर किया। पंचायत सचिव ने सब चलता है कहकर इस अवैध कृत्य पर पर्दा डाल दिया।

बीते 8 मार्च को विश्व महिला दिवस मनाकर महिलाओं के शान में कोई कसर नहीं छोड़ा गया, लेकिन पुलिस प्रधान समाज में आज भी महिलाएं कई मुश्किलों की जंजीरों से जकड़ी हुई है। ताजा मामला ग्राम पंचायत डोटमा का सामने आया है। आपकों बता दें कि सभी पंचायतों में पीएम आवास के पात्र नामों का अनुमोदन करने के लिए 10 मार्च को ग्रामसभा का आयोजन किया गया था।

जैजैपुर क्षेत्र के ग्राम पंचायत डोटमा में भी 10 मार्च को ग्रामसभा का आयोजन किया गया। लेकिन इस ग्रामसभा में गिनती के लोग ही पहुंचे थे। इस पंचायत में कुल 12 पंच है। इसके बावजूद मात्र दो पंच ग्रामसभा में शामिल हुए। इसके अलावा सरपंच गजेबाई पटेल ग्रामसभा से नदारद रही। हालांकि सरपंच पति सीताराम पटेल मौजूद था। इसके अलावा बैठक में ग्रामसभा प्रभारी व शिक्षक विनोदगिरी गोस्वामी, ग्राम झरप के पंचायत सचिव पवन कुमार साहू और दो पंच सहित गिने-चुने ग्रामीण मौजूद थे।

ग्रामसभा की बैठक 12 बजे शुरू हुई, जो 5 बजे तक चली। आपकों बता दें कि प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत पात्र लोगों को आवास आवंटित करने के लिए उनसे बीते 8 व 9 मार्च को आवेदन लिया गया था। 10 मार्च को इसी ग्रामसभा के जरिए उन आवेदनों में पात्र-अपात्र की छंटनी कर पंचायत की सहमति से आवेदन जनपद भेजा जाएगा। लेकिन सरपंच सहित 9 पंच अनुपस्थित होने के बावजूद कार्रवाई पूरी कर ली गई। इसके अलावा कार्रवाई व उपस्थिति पंजी में महिला सरपंच गजेबाई पटेल के बजाय उसके पति सीताराम पटेल ने हस्ताक्षर कर नियमों की धज्जियां उड़ा दी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here