संस्कार व अनुशासन की शिक्षा देता है खेलः राजपूत

0
18

जांजगीर-चांपा। खेल जीवन का महत्वपूर्ण हिस्सा है। खेल के माध्यम से स्वस्थ शरीर का निर्माण होता है। स्वस्थ शरीर से स्वस्थ विचार उत्पन्न होते है। खेल के माध्यम से अनुशासन व संस्कार देने का कार्य क्रीड़ा भारती कर रही है। खेल व खिलाड़ियों के लिए समर्पित संस्था क्रीड़ा भारती योग दिवस, खेल दिवस, मकर संक्रांति उत्सव, हनुमान जयंती जैसे कार्यक्रम आयोजित करती है, जो खेल के प्रति जागरूकता को बढ़ाते है।

ये बातें क्रीड़ा भारती के मध्य क्षेत्र संयोजक भीष्म सिंह राजपूत ने कही। वे क्रीड़ा भारती द्वारा सरस्वती शिशु मंदिर में आयोजित समीक्षा बैठक व सम्मान समारोह में बोल रहे थे। छत्तीसगढ़ के प्रांत मंत्री सुमित उपाध्याय ने क्रीड़ा भारती के सभी कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए कहा कि क्रीड़ा भारती के द्वारा सभी खेलो के विकास के लिए प्रयास किया जा रहा है।

छत्तीसगढ़ क्रीड़ा भारती के उपाध्यक्ष गोपेश्वर कहरा ने भी इस अवसर पर अपना विचार व्यक्त किया। कार्यक्रम में हॉकी के ग्यारह राष्ट्रीय खिलाड़ियों का सम्मान किया गया। राकेश गढ़वाल व योगेश चैरसिया ने क्रीड़ा भारती के खेल गतिविधियों की जानकारी दी। इस बैठक में कोरबा, रायगढ़ व जांजगीर-चांपा जिले के कार्यकर्ता उपस्थित थे। कार्यक्रम का संचालन राजीव सिंह ठाकुर ने व आभार प्रदर्शन क्रीड़ा भारतीय के जिला मंत्री अजीत गढ़वाल ने किया।

कार्यक्रम में कोरबा जिला के बलराम विश्वकर्मा, रविन्द्र दुबे, बालगोविंद जायसवाल, तारकेश मिश्रा, रायगढ़ जिले से बंदे सिंह, सौरभ शर्मा व जांजगीर-चांपा जिले से हेमंत पैगवार, मयंक परामहंस, पप्पू राठौर, अमित राठौर, पलास चंदेल, अमित यादव, कालीचरण, दीपक खरसन, देवानंद गढ़वाल, अमित परामहंसः, पूनमचंद, प्रमोद कटकवार, वरुण पांडेय, भोला सारथी, सनद वर्मा, भुवन श्रीवास, आदि कार्यकर्ता उपस्थित थे। ये जानकारी अजीत गढ़वाल जिला मंत्री क्रीड़ा भारती ने दी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here