शिविर में शामिल हुए गिनती के बच्चे व उनकी माता

0
27

जांजगीर-चांपा। मालखरौदा ब्लॉक मुख्यालय में महिला एवं बाल विकास विभाग द्वारा मुख्यमंत्री बाल संदर्भ योजना के तहत ब्लॉक स्तरीय शिविर का आयोजन किया गया। इसमें 8 सेक्टर की 200 से अधिक आंगनबाड़ी केंद्रों की कार्यकर्ताओं द्वारा शामिल होकर 0 से 6 वर्ष तक के बच्चों को उनकी माताओं के साथ शिविर में लाकर जांच कराना चाहिए था लेकिन बमुश्किल 50 के लगभग कार्यकर्ता ही शिविर स्थल में पहुंचे थे।

उनके साथ गिनती के ही 0 से 6 वर्ष तक की महिलाएं अपने बच्चों के साथ पहुंची थी। जहां डॉक्टरों ने बच्चों की जांच की। जांच में 11 बच्चे गंभीर कुपोषित पाए गए जिन्हें निःशुल्क दवाई उपलब्ध कराने के साथ एनआरसी सेंटर भेजे जाने की अनुशंसा की गई। कुल मिलाकर आमजन को देखकर लगा कि विभाग केवल खानापूर्ति कर रहा है। तभी तो इतने बड़े ब्लॉक स्तर के कार्यक्रम में अधिकारी द्वारा क्षेत्रीय विधायक को निमंत्रण नहीं दिया गया, न हीं जनपद अध्यक्ष या सभापति को बुलाया गया। शिविर देखकर ऐसा लगा कि सरकार बदल गई पर अभी भी महिला एवं बाल विकास के अधिकारी पुराने ढर्रे पर ही काम कर रहे हैं। शासन की योजनाओं का लाभ गरीब माता के बच्चों को मिले इसका उन्हें कोई सरोकार नहीं है। इसका अंदाजा कम मात्रा में पहुंचे बच्चों को देखकर लगाया जा सकता है। प्रभारी प्रशासनिक अधिकारी एसएस ग्वाल का कहना है कि अगली बार जब भी कोई कार्यक्रम होगा जनप्रतिनिधियों को आमंत्रण दिया जाएगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here