बीमा और फाइनेंस कंपनी की सेवा में कमी, उपभोक्ता फोरम ने सुनाया अहम फैसला

0
37

जांजगीर- चांपा। फाइनेंस कराकर मोबाइल खरीदने और बीमा कराने के बाद भी जोखिम पूर्ति नहीं होने पर एक जागरूक उपभोक्ता ने जिला उपभोक्ता फोरम की शरण ली। जिला उपभोक्ता फोरम से उस ग्राहक को न्याय मिला। बीमा और फाइनेंस कंपनी को सेवा में कमी का दोषी पाया गया है। जिला उपभोक्ता फोरम ने इस मामले में पक्षकार को नया मोबाइल देने और 2000 रुपए वाद व्यय भुगतान करने का आदेश जारी किया गया है।

जगदल्ला चांपा निवासी अमित कुमार बंजारे ने चांपा के पंकज मोबाइल शॉप से मोबाइल खरीदा था। उसने बजाज फाइनेंस सर्विस से फाइनेंस करा कर मोबाइल लिया था। बाद में आईएफएफसी जनरल इंश्योरेंस कंपनी से मोबाइल का बीमा भी कराया। कुछ दिनों बाद अमित कुमार की मोबाइल गुम हो गया। इस पर उसने थाने में सूचना दी। साथ ही फाइनेंस और बीमा कंपनी को भी अवगत कराते हुए जोखिम पूर्ति के लिए आवेदन दिया, लेकिन मामले में पेंच फंस गया। अमित कुमार ने 13500 रुपए का वीवो वाय 81 मोबाइल खरीदा था, जबकि फाइनेंस और बीमा कंपनी ने ओप्पो एफ 9 का 18990 रुपए का फाइनेंस और बीमा कर दिया था। ऐसे में अमित को अपने गुम हुए वीवो मोबाइल फोन की जोखिम का भुगतान करने में बीमा और फाइनेंस कंपनी ने हाथ खींच लिए। अमित ने उपभोक्ता फोरम में परिवाद दायर किया, जिसमे मोबाइल दुकान, बीमा कम्पनी और फाइनेंस कंपनी को पार्टी बनाया। मामले की सुनवाई के बाद जिला उपभोक्ता फोरम के अध्यक्ष बीपी पांडे और सदस्य मनरमण सिंह ने उपभोक्ता अमित कुमार बंजारे के पक्ष में फैसला दिया। जिला उपभोक्ता फोरम ने फाइनेंस कंपनी और बीमा कंपनी को सेवा में कमी का दोषी पाते हुए आदेश जारी किया। जिला उपभोक्ता फोरम के आदेश अनुसार अब पक्षकारों को नया वीवो वाय 81 मोबाइल परिवादी अमित कुमार को देना होगा। साथ ही पक्षकारों द्वारा 2000 का वाद व्यय भी परिवादी को भुगतान करना होगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here