बाल श्रम निषेध दिवस पर हुआ कार्यक्रम, कृषि वैज्ञानिक ने बच्चों के संरक्षण की दी महत्वपूर्ण जानकारी

0
138

जांजगीर-चांपा। समाजसेवी स्व.हिंन्छाराम खरे, स्व.गणेशराम खरे एवं देहदानी स्व.मनोज कुमार खरे की स्मृति में जागरूकता अभियान निदेशक धर्मेंन्द्र कुमार खरे के मार्गदर्शन में कृषि वैज्ञानिक चंद्रशेखर खरे एवं सुमन खरे चला रहे हैं।

इस अभियान के तहत बाल श्रम निषेध दिवस पर कक्षा पांचवी से सातवीं के छात्र-छात्राओं के लिए जन जागरूकता कार्यक्रम का आयोजन किया गया। चंन्द्रशेखर खरे ने कहा कि 12 जून को बाल श्रम निषेध दिवस मनाया जाता है। श्री खरे ने कहा कि आज देश के करोड़ों बच्चे जिन्हें स्कूलों में कापी किताब और बचपन में खेलों के साथ जिनकी जिंदगी बितनी चाहिए वे आज यत्र तत्र होटलांे में कप प्लेट धोते, ट्रेनों में भीख मांगते, झाडू पोंछा लगाते, कचरा बिनने, मजदूरी करते आसानी से देखा जा सकता है परंतु हमें उन्हें एवं उनके परिजनों को उन बच्चों को स्कूलों में पढ़ने लिखने व अपना भविष्य गढ़ने के लिए प्रेरित करना चाहिए। धर्मेंन्द्र खरे ने बच्चों को वृहद कैरियर मार्गदर्शन देते हुए आवासीय विद्यालयों जैसे नवोदय, केंन्द्रीय, एकलव्य, सैन्य विद्यालयों में प्रतियोगी परीक्षाओं के जरिए चयन के नियम एवं परीक्षाओं की तैयारी के बारे में बताया। सुमन खरे ने बच्चों को गुड टच एवं बेड टच, चाइल्ड हेल्प लाइन 1098 एवं डायल 112 की उपयोगिता एवं महत्ता को बताया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here