फसल अवशेष न जलाएं जैविक खाद बनाएं-खरे, कृषि वैज्ञानिक का क्षेत्र में चल रहा जागरूकता कार्यक्रम

0
47

जांजगीर-चांपा। पामगढ़ के समाज सेवक स्व. हिंन्छाराम खरे, स्व. गणेशराम खरे एवं समाज के प्रथम देहदानी स्व. मनोज कुमार खरे की स्मृति में चंन्द्रशेखर खरे कृषि वैज्ञानिक प्रक्षेत्र प्रबंधक द्वारा जन जागरूकता अभियान चलाया जा रहा है।

इसके तहत आज शाउमा विद्यालय कोथारी द्वारा आयोजित एनएसएस 7 दिवसीय शिविर में कैरियर मार्गदर्शन, बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओं अभियान के तहत आज की बेटी कल का हमारा भविष्य जो भावी नेता, वैज्ञानिक, अधिकारी बनेंगे, प्रतियोगी परीक्षाओं में सफलता के टिप्स बताए गए। साथ ही भ्रष्टाचार मिटाओ, नया भारत बनाओ अभियान के तहत छात्र-छात्राओं को भ्रष्टाचार का विरोध करने भ्रष्टाचार के खिलाफ लड़ने के बारे में विस्तार से जानकारी दी गई।

सोहागपुर, मकुन्दपूर क्षेत्र में धान फसल की कटाई पश्चात फैले पैरे को एकत्रित कर अवशेष नहीं जलाने की अपील की गई। साथ ही पैरे को ट्राइकोडर्मा द्वारा जैविक खाद बनाने की वैज्ञानिक विधियों, बीजोत्पादन, नशामुक्ति तथा रतनजोत की विषाक्तता के बारे में बताया गया। कार्यक्रम में रक्तदान, नेत्रदान, अंगदान, देहदान, शिक्षादान के लिए जागरूक करने का प्रयास किया गया।

इस कार्यक्रम में 83 कृषक, छात्र छात्राओं को पर्यावरण समृद्धि व मृदा को प्रदूषण से बचाने, समन्वित कृषि प्रणाली अपनाने विस्तार से जानकारी दी गई। कार्यक्रम में सरपंच श्रीमती कर्मादेवी, विद्यालय के कार्यक्रम अधिकारी डी लहरे, प्रो.शिवदयाल, शिक्षक शिक्षिकाओं, छात्र छात्राएं आदि मौजूद थे। आभार प्रदर्शन कृषि वैज्ञानिक श्री खरे ने किया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here