प्रदेश के सभी निजी शिक्षा संस्थानो में दो माह के शैक्षिक, वाहन और छात्रावास शुल्क में छूट करे सरकार- अभाविप..

0
194


0 अभाविप ने राज्यपाल और सभी प्राइवेट यूनिवर्सिटी के कुलपति को लिखा पत्र..

जांजगीर-चांपा। निजी शिक्षा संस्थानों द्वारा शुल्क जमा करने हेतु विद्यार्थियों पर दबाव बनाए जाने की घटनाओं के संबंध में अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद छत्तीसगढ़ ने राज्यपाल एवं मुख्यमंत्री के नाम ज्ञापन लिखा है। ज्ञापन के माध्यम से अभाविप प्रदेश मंत्री श्री शुभम जायसवाल ने कहा है कि कोरोना वायरस के चलते प्रदेशभर में जारी लॉकडाउन के कारण सभी स्तर की शैक्षणिक गतिविधियों के संचालन पर काफी प्रभाव पड़ा है और देश प्रदेश की अर्थव्यवस्था को भी इससे क्षति पहुंची है. संकट के इस घड़ी में भी कई निजी शैक्षणिक संस्थान एवं इंजीनियरिंग कॉलेज अपने विद्यार्थियों पर शुल्क जमा करने का अनावश्यक दबाव बना रहे हैं और शुल्क जमा नहीं किए जाने पर प्रायोगिक एवं मौखिक परीक्षाओं से वंचित किए जाने की घटना भी विद्यार्थी परिषद् के संज्ञान में आयी है। विद्यार्थियों व उनके परिवारों पर इस तरह का दबाव बनाना सरासर गलत है।
विद्यार्थी परिषद् ने इस बात पर जोर दिया है कि इन सभी संस्थानों पर पढ़ने वाले विद्यार्थियों को दो माह के शैक्षिक शुल्क, वाहन शुल्क एवं छात्रावास शुल्क में पूरी तरह छूट दी जानी चाहिए। विद्यार्थी परिषद ने विषय की गंभीरता को देखते हुए आवश्यक क़दम उठाने और दोषी पाये जाने पर शैक्षिक संस्थानों एवं उनके संचालकों के विरुद्ध कठोर कार्रवाई करने की माँग करी है। जिला संयोजक अमर महंत ने कहा कि प्रदेश की सरकार इस महामारी मे छात्रों के हितों को ध्यान में रखकर इस गंभीर विषय मे कठोर कदम उठाये अन्यथा समूचा छात्र समुदाय प्रदेश सरकार को आने वाले समय में जवाब ज़रूर देगा।