प्रतीक तिवारी ने देव द बूल के छुड़ा दिए छक्के, राजस्थान में आयोजित मौत के मुकाबले में प्रतीक ने मारी बाजी

0
65

जांजगीर-चांपा। राजस्थान के सूजानगढ़ में आयोजित मौत का मुकाबला महासंग्राम में जिले के बेटे प्रतीक तिवारी ने देव द बूल के छक्के छुड़ाकर आखिरकार जीत हासिल कर ली। उनकी इस उपलब्धि से पूरा छत्तीसगढ़ गौरवान्वित हुआ है।

जिले के नवागढ़ विकासखंड के मां संवरीन दाई की पावन धरा अमोरा महन्त निवासी रामगुलाम तिवारी के इकलौते सुपुत्र प्रतीक तिवारी ने मौत का मुकाबला जीतकर छत्तीसगढ़ का सिर फक्र से उंचा कर दिया है। अब प्रतीक तिवारी का चयन अगले मुकाबले के लिए कर दिया गया है। अभी प्रतीक तिवारी के शरीर में किल घुसने एवं कुछ अंदरुनी चोट के कारण डाक्टरों ने उन्हें स्वास्थ्य लाभ और विश्राम करने की सलाह दी है। इसलिए वे अभी राजस्थान में ही विश्राम कर रहे हैं। वे 25 मई को पुनः पाली ( राजस्थान) के मैदान में मुकाबले के लिए उतरेंगे। अब सबकी निगाहें अगले मुकाबले पर टिकी हुई है। सभी छत्तीसगढ़वासी इस युवा की जीत के लिए भगवान से दुआ कर रहे हैं।

खली ने किया तैयार
गौरतलब है कि प्रतीक तिवारी रेसलिंग का प्रशिक्षण द ग्रेट खली के प्रशिक्षण केंद्र में लिया है और प्रतीक द ग्रेट खली से भी दो दो हाथ कर चुका है। अब तक इसे कई नेशनल, इंटरनेशनल मैडल भी मिल चुका है। अमोरा जैसे छोटे से गांव में रहने वाले इस युवा ने अनेक महानगरों में रेसलिंग महासंग्राम में पुरस्कार जीतकर गांव, जिला और छत्तीसगढ़ राज्य का नाम रौशन किया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here