नपा की लापरवाही से खून के आंसू रो रहे वार्ड नंबर 23 के लोग…

0
178

जांजगीर-चांपा। नगरपालिका के जिम्मेदारों की लापरवाही से वार्ड नंबर 23 के लोग खून के आंसू रोने मजबूर है। बताया जाता है बीते गर्मी के मौसम में गणेश होटल के पीछे मोहल्ले में नाली का निर्माण प्रारंभ हुआ, लेकिन ठेकेदार ने सड़क से काफी उपर ऐसी नाली बना दी, जिससे सभी दंग रह गए। इसका विरोध करने के बाद नपा ने काम रूकवा दिया, लेकिन इस लापरवाही से पूरा मोहल्ला गंदगी और मलबे से अट गया है।

अभी नगरपालिका चुनाव के लिए आरक्षण तय होने के बाद जिस तरह दावेदारों की कतार लग गई है लेकिन कुर्सी मिलने के बाद ये जनता के दुख दर्द पर कितना खरा उतरेंगे यह यक्ष सवाल है। चांपा नगरपालिका के वार्ड नंबर 23 के लोगों ने भी पांच साल पहले जिन्हें अपना प्रतिनिधि चुना था वही समय आने पर अपना रंग दिखाने कोई कसर नहीं छोड़े। मोहल्ले के कुछ लोगों ने बताया कि करीब पांच माह पहले पानी निकासी के लिए यहां नाली का निर्माण प्रारंभ हुआ था लेकिन ठेकेदार ने लापरवाही बरतते हुए सड़क और मकान से उपर नाली बना दी। इसका जब मोहल्ले के लोगों ने विरोध जताया और मामला मीडिया में आया, तब नगरपालिका ने काम बंद करा दिया। लेकिन इसके बाद नगरपालिका ने अधूरी बनी नाली को अपने हाल पर छोड़ दिया, जबकि व्यवस्थित नाली का नए सिरे से निर्माण कराया जाना था। इधर, नगरपालिका की लापरवाही से पूरा मोहल्ला मलबा, गंदगी और अव्यवस्था से अटा पड़ा है। बारिश का यह चार महीना यहां के लोग किस कदर गुजार रहे हैं इसका शब्दों में बया करना मुश्किल है। मोहल्ले के लोगों का कहना है कि इस समस्या से बार-बार नगरपालिका के अफसरों और जनप्रतिनिधियों को अवगत कराया, लेकिन उन्होंने इस ओर ध्यान ही नहीं दिया। यहां अव्यवस्था के चलते बारिश का पानी कई लोगों के घरों में ंघुस रहा है तो वहीं इस मोहल्ले में दाखिल होना भी मुश्किल है। फिर भी जैसे तैसे गुजारा किया जा रहा है। मोहल्ले के लोगों का कहना है कि जिस समस्या से वो गुजर रहे हैं उसका शायद अंदाजा भी नपा के जिम्मेदारों को नहीं है। उनका कहना है कि जब नपा के कर्ताधर्ता उनकी बातों को नहीं सुन रहे हैं तो इस बार चुनाव में सबक सिखाया जाएगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here