गणतंत्र दिवस के परेड में राष्ट्रपति को सलामी देंगी छग की बेटी तनुजा वर्मा, अपने महाविद्यालय में प्रथम स्वयं सेविका बनने का रचा इतिहास

0
287

जांजगीर चांपा। भारत की राजधानी दिल्ली के राजपथ पर होने वाले गणतंत्र दिवस की परेड में छत्तीसगढ़ प्रदेश के तनुजा वर्मा ने अपना नाम अंकित कर अपने महाविद्यालय में प्रथम स्वयं सेविका बनने का एक नया इतिहास रचा है। अपने इस शानदार सफलता के बारे में विस्तृत जानकारी देते हुए अरुण वर्मा एवं सरिता वर्मा की सुपुत्री कुमारी तनुजा वर्मा ने बताया कि वह तीन बहनों में सबसे छोटी है जो हेमचंद विश्वविद्यालय से संबंध शंकराचार्य महाविद्यालय भिलाई की छात्रा है।

कम्युनिकेशन स्किल कार्यक्रमों और परेड, सांस्कृतिक कार्यक्रमों में बेहतर प्रस्तुतियों के चलते उसे यह सुअवसर प्राप्त हुआ है। राष्ट्रीय सेवा योजना के पूर्व गणतंत्र दिवस परेड ग्वालियर में 30 अक्टूबर से 08 नवंबर तक दस दिवसीय प्रशिक्षण में मध्यप्रदेश, बिहार, झारखंड, उत्तरप्रदेश, उत्तराखंड के 200 स्वयंसेवकों ने भाग लिया जहां देश भर के 40 लोगों का चयन हुआ। इसमें छत्तीसगढ़ से 06 स्वयंसेवकों में तनुजा वर्मा को प्रथम स्थान मिला। इसके साथ ही मध्यप्रदेश से भी 08 स्वयंसेवकों का चयन किया गया। तनुजा वर्मा ने बताया कि हमारी छत्तीसगढ़ की 6 सदस्यीय टीम 30 दिसंबर को रायपुर से भोपाल के लिये रवाना हुई। वहां सभी स्वयंसेवकों का स्वास्थ्य परीक्षण करने के बाद बाद दूसरे दिन मध्यप्रदेश के सभी 8 सदस्य टीम के साथ मिलकर वे दिल्ली के लिये रवाना होंगी। दिल्ली में लगभग एक महीने तक परेड और सांस्कृतिक कार्यक्रम में भाग लेने के बाद वे राजपथ पर आयोजित गणतंत्र दिवस परेड में हजारों की भीड़ में शान से कदमताल मिलाते हुए नजर आएगी। लेकिन इस ऐतिहासिक परेड को अपनी आंखों से देखने के लिए उसके रिश्तेदार वहां पर मौजूद नहीं रहेंगे और उन्हें केवल टीवी चैनलों के माध्यम से ही देखा जा सकेगा

पीएम और राष्ट्रपति से भी मिलेंगी तनुजा
गणतंत्र दिवस परेड में शामिल होने वाले इन सभी स्वयंसेवकों को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद से मुलाकात करने का भी अवसर प्राप्त होगा। इस कड़ी में तनुजा वर्मा भी प्रधानमंत्री और राष्ट्रपति से मुलाकात करते हुए नजर आएंगी।

छग मुख्यमंत्री भी करेंगे सम्मानित
अपने महाविद्यालय के प्रथम स्वयं सेविका तनुजा वर्मा के गणतंत्र दिवस परेड के लिए चयन होने पर उसे शंकराचार्य महाविद्यालय के संचालक आईपी मिश्रा, श्रीमती जया मिश्रा, प्राचार्य डॉ. रक्षा सिंह, डॉ. जेडी राव, केजी मंडल, कार्यक्रम अधिकारी विकाशचंद्र शर्मा, शिल्पा कुलकर्णी सहित सभी ने शुभकामनाएं दी है एवं उसकी इस उपलब्धि के लिए 29 दिसंबर को मानपुर तिल्दा में आयोजित कुर्मी समाज के अधिवेशन कार्यक्रम में मुख्यमंत्री भूपेश बघेल द्वारा सम्मानित किया गया।

तनुजा वर्मा की अभिरुचि
जनवरी 2019 में केंद्र सरकार द्वारा आयोजित युवा सांसद प्रदेश प्रतिस्पर्धा में भाग ले चुकी तनुजा वर्मा महाविद्यालय अध्ययन के साथ-साथ विद्यार्थियों को ट्यूशन भी पढ़ाती हैं। उसका मॉडलिंग, डांसिंग, सिंगिंग के क्षेत्र में भी काफी अभिरुचि हैं। वे सांस्कृतिक कार्यक्रमों में छत्तीसगढ़ी भाषा में छत्तीसगढ़ी संस्कृति व देशभक्ति का अनूठा प्रदर्शन करती हैं। आगे उसका लक्ष्य सिविल सर्विसेज में जाना, स्वच्छता के प्रति लोगों को जागरूक करना, गरीब बच्चों की बेहतर शिक्षा के लिए प्रयास करना और देश की उन्नति में अपना योगदान देना है। वे अपने इस सफलता का श्रेय अपने परिवार एवं पूरे शिक्षकों को देना चाहती हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here