केएसके मामले में त्रिपक्षीय वार्ता में बनी सहमति, पावर कंपनी पुनः प्रारंभ करने एवं शांति व्यवस्था बनाए रखने पर सभी सहमत..

0
539

जांजगीर-चांपा। कलेक्टर जेपी पाठक के निर्देश पर आज जिला श्रम पदाधिकारी कार्यालय में केएसके महानदी पावर कंपनी के अधिकारियो व श्रमिक संगठन के पदाधिकारियों की सयुंक्त बैठक हुई। बैठक में अतिरिक्त जिला दण्डाधिकारी श्रीमती लीना कोसम व अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक श्रीमती मधुलिका सिंह के समक्ष दोनो पक्षों ने अपनी-अपनी बात रखी। प्रबंधक व श्रमिक संगठन के पदाधिकारियो ने पावर प्लांट चालू रखने एवं शांति व्यवस्था बनाने के लिए सहमति दी।


अतिरिक्त जिला दंडाधिकारी ने कहा कि पावर कंपनी और श्रमिकों को आपसी समन्वय से कार्य करना होगा। कानून का उल्लंघन करने पर नियमानुसार कड़ी कार्यवाही की जाएगी। किसी भी प्रकार की भ्रम की स्थिति निर्मित न करंे। आपसी संवाद की स्थिति बनी रहे। श्रम कानून का पालन करवाने में जिला प्रशासन श्रमिको और कंपनी प्रबंधको का सहयोग करेगा। अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक श्रीमती मधुलिका सिंह ने प्रबंधको से कहा कि कंपनी परिसर की आंतरिक सुरक्षा व्यवस्था मजबूत करें। अनाधिकृत व्यक्तियों का परिसर मे प्रवेश प्रतिबंधित करे। सीसी कैमरा चालू हालत में रखेे। शांति व्यवस्था भंग होने की स्थिति में पुलिस को तत्काल सूचना दें। श्रीमती मधुलिका सिंह ने मजदूर संघ के पदाधिकारियो से कहा कि सोशल मीडिया के उपयोग में साइबर एक्ट का पालन करें। किसी भी प्रकार की भ्रम की स्थिति निर्मित ना करें। कंपनी प्रबंधन के अधिकारियो व श्रमिक संगठन के पदाधिकारियो ने आपसी समन्वय से काम करने पर सहमति व्यक्त की। श्रमपदाधिकारी केके सिंह ने श्रम कानून के प्रावधानों की संक्षिप्त जानकारी दी। बैठक में केएसके महानदी पावर कंपनी के प्रेसिडंेट जीपी राव, वरिष्ठ महाप्रबंधक वेणु गोपाल, डिप्टी जनरल मैनेजर अजय अग्रवाल, मैनेजर राजू कुमार, श्रमिक संगठन के पदाधिकारियों मंे सुमित प्रताप सिंह, बलराम गिरी गोस्वामी, रवि नोरगे, रवि साहू, लोभन सिंह, विश्वनाथ प्रताप सिंह राय संहित संबंधित विभागों के अधिकारी उपस्थित थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here