आवारा कुत्तों के कहर से पूरा शहर परेशान, आए दिन कुत्तों के काटने से जख्मी होकर अस्पताल पहुंच रहे लोग…

0
45

जांजगीर-चांपा। पूरा शहर कुत्तों के आतंक से भयभीत है। शाम ढलते ही कुत्तों का झुंड शहर में जगह-जगह नजर आने लगता है। वहां से आवाजाही के दौरान ये कुत्ते लोगों को दौड़ाते हैं। आए दिन कुत्तों के काटने से चोटिल होकर लोग अस्पताल पहुंच रहे हैं। कुत्तों पर नकेल कसने नगरपालिका पूरी तरह नाकाम हैै।

चांपा में आवारा कुत्तों का आतंक पूरे शबाब पर है। रेलवे स्टेशन रोड में कोरवापारा, बरपाली, संजयनगर, बस्ती, तहसील रोड में जगदल्ला सहित पूरे शहर में कुत्तों का झुंड मंडराते रहता है। खासकर शाम ढलने के बाद ये खुंखार हो जाते हैं। इस दौरान आवाजाही करने वाले कई लोगों पर कुत्तों का झुंड टूट पड़ता है।

आए दिन कई लोग कुत्तों के काटने से जख्मी होकर इलाज कराने अस्पताल पहुंच रहे हैं। लोगों का कहना है कि छोटे बच्चों के लिए कुत्तों का झुंड खतरनाक है। कई बच्चे भी कुत्तों की चपेट में आ गए हैं। उनका कहना है कि कुत्ते के काटने से लोग भयभीत है, वहीं कुत्तों द्वारा फैलाई जा रही गंदगी एक गंभीर समस्या बन गई है।

इधर, कुत्तों को मारने पर प्रतिबंध है। ऐसे में नगरपालिका भी कुत्तों पर नकेल कस पाने में नाकाम है। हालांकि नगरपालिका चाहे तो कुत्तों का बधियाकरण या फिर इन्हें पकड़कर दूर छोड़वा सकती है, लेकिन इस ओर पहल करने वाला कोई नहीं है।

इलाज महंगा

रेबीज का इंजेक्शन बड़ा महंगा आता है। डाग बाइट का इंजेक्शन तकरीबन दो हजार रुपए का आता है। हालांकि गरीब वर्ग के लोगों को बीडीएम अस्पताल चांपा में यह इंजेक्शन निःशुल्क लगाने का प्रावधान है। वहीं सामान्य वर्ग के लोगों के लिए यह इंजेक्शन बड़ा महंगा साबित होता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here